यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने इलाहाबाद के बाद अब फैजाबाद का नाम बदलकर किया अयोध्या, जानिए: कैसे बदलता है शहर का नाम

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने इलाहाबाद के बाद अब फैजाबाद का नाम बदलकर किया अयोध्या

जानिए कैसे बदलता है शहर का नाम

रिपोर्ट : कमल सिंह सेंगर, अम्बालिका न्यूज डेस्क,

लखनऊ/अयोध्या (यूपी) : इलाहाबाद का नाम बदल कर प्रयागराज करने के ठीक 21 दिनों बाद अब यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को फैजाबाद जिला को अब से अयोध्या के नाम से जानने की घोषणा कर दी है। मुख्यमंत्री ने यूपी की राजधानी लखनऊ से लगभग 120 किलोमीटर दूर स्थित इस अयोध्या तीर्थनगरी में कहा, कि अयोध्या हमारी आन, बान और शान का प्रतीक है। उन्होंने कहा कि अयोध्या में नया मेडिकल कॉलेज बनाया जा रहा है। इसका नाम राजर्षि दशरथ रखा जाएगा। वहीं यहां पर बन रहे एयरपोर्ट का नाम मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम के नाम से जाना जाएगा।


आदित्यनाथ ने कहा कि कोई अयोध्या के साथ अन्याय नहीं कर सकता है। उन्होंने इसके साथ ही कहा कि अयोध्या की पहचान भगवान राम से है। आदित्यनाथ ने दीपावली के अवसर पर आयोजित “दीपोत्सव” में ये बातें कहीं। उन्होंने अयोध्या में भगवान राम के नाम पर एक नया हवाई अड्डा और भगवान राम के पिता राजा दशरथ के नाम पर जिले में एक मेडिकल कॉलेज की स्थापना की भी घोषणा की। इस अवसर पर भीड़ में शामिल कुछ लोगों को “मंदिर का निर्माण कराओ” के नारे लगाते सुना गया।

योगी आदित्यनाथ ने यहां कथा पार्क में आयोजित एक कार्यक्रम में कहा कि “दीपोत्सव” नई परंपरा शुरू करता है। कथा पार्क में आयोजित कार्यक्रम में दक्षिण कोरिया की प्रथम महिला किम जुंग-सुक भी शामिल हुईं।
इस अवसर पर राम की पैड़ी के दुबारा विकास, सौंदर्यीकरण व सरयु नदी में मलजल प्रवाहित करने पर रोक लगाने समेत कई परियोजनाओं का शुभारंभ किया।

Advt.

उल्लेखनीय है कि इससे पहले बीते 15 अक्टूबर को इलाहाबाद का नाम बदलकर “प्रयागराज” किया गया था। बताते हैं कि इसकी मांग काफी समय से उठ रही थी। परन्तु इस पर गंभीरता से विचार नहीं किया गया। जब मार्च 2017 को योगी सरकार यूपी में आई तो उन्होंने यह वादा भी किया कि वे इलाहाबाद को प्रयागराज कर देंगे। इसके बाद कई संतों ने उन्हें उनके वादे को याद दियाला। इलाहाबाद में मुख्यमंत्री ने अपनी इस घोषणा को अमली जामा पहनाने की शुरुआत कर दी थी।

अयोध्या: हनुमानगढ़ी, (साभार फाइल फोटो)

जानिए कब व कैसे बदला नाम :

जानकर बताते हैं कि अकबरनामा, आईने अकबरी व अन्य मुगलकालीन ऐतिहासिक पुस्तकों से ज्ञात होता है कि मुगल शासक अकबर ने सन 1575 के आसपास प्रयागराज में किले की नींव रखी। उसने यहां नया नगर बसाया जिसका नाम उसने इलाहाबाद रखा। उसके पहले तक इसे प्रयागराज के ही नाम से जाना जाता था।

Advt.

जानिए कैसे बदलता है किसी शहर का नाम :

– किसी शहर के स्थानीय लोग या जनप्रतिनिधि नाम बदलने का प्रस्ताव राज्य सरकार को भेजते है।

– राज्य मंत्रिमंडल प्रस्ताव पर विचार करती है और इसकी मंजूरी देने के बाद राज्यपाल की सहमति को भेजती है।

– राज्यपाल प्रस्ताव पर अनुंशसा देने के साथ अंतिम मंजूरी के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय को भेजते हैं।

– गृह मंत्रालय से हरी झंडी मिलने के बाद राज्य सरकार नाम बदलने की अधिसूचना जारी करती है।

Advt.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*