महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस का बयान बिहार के बेरोजगार महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस का बयान को अपमानित करने वाला है: हरेलाल यादव

महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस का बयान बिहार के बेरोजगार महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस का बयान को अपमानित करने वाला है: हरेलाल यादव

सारण जिला राजद प्रवक्ता की त्वरित टिप्पणी!!

रिपोर्ट: अम्बालिका न्यूज,
छपरा (सारण): सारण जिला राजद प्रवक्ता हरेलाल यादव ने महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री सह बिहार भाजपा के चुनाव प्रभारी देवेंद्र फडणवीस के द्वारा दिए गए एक बयान पर कड़ी आपत्ति जताई है।
राजद प्रवक्ता ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव बिहार के बेरोजगारों के प्रति काफी गंभीर और संवेदनशील है। नेता प्रतिपक्ष द्वारा यह घोषणा की गई है कि अगर राजद गठबंधन की सरकार बनती है, तो पहली कैबनेट के बैठक में पहली कलम से ही 10 लाख बिहारी बेरोजगारों को स्थायी नौकरी देंगे।
उनकी इस घोषणा से बिहारी बेरोजगार युवाओं में काफी उत्साह माहौल फैल गया है। तेजस्वी यादव के सोच और फैसले से घबरा कर देवेंद्र फडणवीस का यह कहना कि तेजस्वी यादव अपनी पहली कैबिनेट की बैठक में बिहारी युवकों को तमंचे (पिस्तौल) बाटेंगे और अपराधी बनाएंगे। यह बयान पूरे बिहार के युवाओं के साथ साथ पूरी बिहार की जनता को अपमानित और गाली देने जैसा ही है।
राजद प्रवक्ता ने कहा कि राजद सुप्रीमों लालू प्रसाद यादव द्वारा अपने शासन काल में बिहार में सात यूनिवर्सिटी खोला गया। अनेक अनुमंडल, प्रखंड और जिला बनाये गए। ताकि गरीबों के दरवाजे तक सरकार पहुंच सके।
उन्होंने 25 हजार शिक्षकों की बहाली बीपीएससी के द्वारा की। 1800 दरोगा की बहाली की। हजारों एएनएम/नर्सों की बहाली की।
उन्होंने अपने रेल मंत्री के कार्यकाल में बिहार को चार बड़े कारखाने दिए। वर्षों से घाटे में चल रही रेलवे को नब्बे हजार करोड़ का मुनाफ़ा दिलाया। स्टेशनों पर कुलियों का काम करने वाले श्रमिकों को चतुर्थ श्रेणी की नौकरी दिए। उन्होंने कहा कि देवेंद्र फडणवीस महाराष्ट्र में काम करने वाले बिहारी मजदूरों को रेलवे स्टेशनों और चौक चौराहों पर पूरी बेरहमी से लाठियों, डंडो से पिटवा कर बिहार खदेड़ने का काम किये हैं।
देवेंद्र फडणवीस बिहार की जनता को बताएं कि अभी तक बिहार को विशेष राज्य का दर्जा क्यों नहीं मिला? बिहर में नीतीश कुमार के साथ 15 वर्षों से गलबहियां डाल सरकार चला रहे हैं। अभीतक बिहार में एक भी कल कारखाने क्यों नहीं खुले? बिहार में हो रहे आए दिन अपहरण, बलात्कार, हत्या व डकैती से लोग डरे सहमे एवं भयाक्रांत हैं। फिर भी आप नीतीश कुमार के चेहरे पर वोट मांगने को लाचार हैं।
बिहार की जनता कोरोना और बाढ़ से तबाह हो त्राहिमाम कर रही है। कहीं कोई पूछने वाला नहीं है। इस विकट परिस्थितियों में बिहारी जनता के दिलों दिमाग पर एक ही नाम गूंज रहा है तेजस्वी यादव। बिहार के बेहाल किसान, मजबूर, मजदूर, छात्र नवजवान नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को अपना तारणहार मान लिए हैं। अबकी बार यह किसी झांसे व जुमलों के घनचक्कर में फंसने वाले नहीं हैं। तेजस्वी यादव की अगुवाई में सरकार बना कर बिहार को सुखी-सम्पन्न प्रदेश बना कर देश का सिरमौर प्रदेश बनाने का संकल्प ले चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*