सारण : आयुर्वेदिक एवं घरेलू नुस्खे को अपनाकर काफी हद तक कोरोना वायरस से बचाव संभव : डॉ. राजीव रंजन सिंह

सारण : आयुर्वेदिक एवं घरेलू नुस्खे को अपनाकर काफी हद तक कोरोना वायरस से बचाव संभव : डॉ. राजीव रंजन सिंह

रिपोर्ट : वीरेंद्र कुमार यादव/के. के. सेंगर, संपादकीय डेस्क, अम्बालिका न्यूज,

छपरा (सारण), बिहार : कोरोना वायरस एक विषाणु जनित रोग है। जो कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आने से फैलता है। जिसमें लक्षण के रूप में तेज बुखार के साथ खांसी, गले में खरास, सांस लेने में दिक्कत, शरीर के मांस पेशियों व जोड़ो में दर्द सहित निमोनिया जैसा लक्षण होता है। आयुर्वेद के मतानुसार वायरस का संक्रमण उन व्यक्तियों में ज्यादा होता है, जिनको अग्निमांध, दूषित कफ, आम दोष एवं रोग प्रतिरोधक क्षमता की कमी होती है।।


उपरोक्त बातों को ध्यान में रखते हुए आयुर्वेदिक एवं घरेलू नुस्खों को अपनाकर काफी हद तक कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव किया जा सकता है। यह जानकारी बिहार के छपरा शहरी क्षेत्र के चिकित्सा पदाधिकारी व उत्क्रमित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मासूमगंज में पदास्थापित सहित छपरा शहर के महाराणा प्रताप नगर मोहल्ला निवासी डॉ. राजीव रंजन सिंह ने दी।
डॉ. सिंह के द्वारा निम्नलिखित आयुर्वेदिक व घरेलू नुस्खे अपनाने की बात बताई गई है :

1):- सुबह उठकर तांबे के बर्तन में रात्रि का रखा हुआ पानी पियें।

2):- अदरख का एक टुकड़ा यानी दो मटर के दाना बराबर खाली पेट गुड़ के साथ पहला दिन और दूसरे दिन से चार दिन तक गुड़ के जगह सेंधा नमक के साथ खा लें।
3):-सुबह का भोजन 9 बजे तक अवश्य कर लें। रात्रि का भोजन यदि सम्भव हो तो सूर्यास्त के पहले कर लें। अन्यथा सूर्यास्त के बाद जितना जल्द हो सके कर लें।

4):- कोई भी भारी गरिष्ठ भोजन, ठंढे एवं बासी दूषित भोजन से बचें।

5):- चाय की जगह तुलसी, अदरक, काली मिर्च, दालचीनी और गुड़ मिश्रित चाय पियें।

6:):- अफवाहों से बचें, साफ-सफाई पर ध्यान दें। सरकार एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा दिये जा रहे एडवाइजरी का पालन कर सहयोग करें।

7):- हल्दी-दूध का सेवन करें।

8):- योग व प्रणायाम करें।

9)-:- नींबू व सुसुम जल का सेवन करें।

10):- गिलोय का सेवन करें।

11):- च्यवनप्राश का सेवन करें।

डॉ. सिंह के अनुसार उपरोक्त सभी चीजें रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने वाली हैं। इसके अलावा कुछ सावधानियां भी बरतने की आवश्यकता है। जो इस प्रकार से हैं :

1. अपने हाथ को साबुन व पानी से कम से कम 20 सेकेंड तक बराबर धोते रहें।

2. भीड़-भाड़ वाले जगह जाने से बचें। सोशल डिस्टैंसिंग को मेंटेन करें।

2. बुखार, खाँसी, सांस लेने में तकलीफ, जोड़ो, मांसपेशियो में दर्द आदि होने पर स्वास्थ्य केन्द्र जरूर पहुंचे।

3. बहुत जरुरी होने पर ही घर से बाहर निकलें।

4. मधुमेह, अस्थमा, सीओपीडी, Bronchitis, टीबी, किडनी अथवा अन्य रोग जिसमें रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो एवं जिनकी उम्र 60 वर्ष से ज्यादा हो, वे अपना विशेष ध्यान दें। साथ ही वे घरों से बाहर न निकलें।

5. खांसने व छिंकने वाले व्यक्ति से कम से कम एक मीटर की दूरी बनाकर रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*