सारण : एकमा के सुप्रसिद्ध चिकित्सक डॉ. एस. कुमार की माता ज्योति देवी का निधन, पार्थिव शरीर पंचतत्व में विलीन,

सारण : एकमा के सुप्रसिद्ध चिकित्सक डॉ. एस. कुमार की माता ज्योति देवी का निधन, पार्थिव शरीर पंचतत्व में विलीन,

– डॉ. एस. कुमार अहले सुबह पटना जाने के दौरान माता की निधन की सूचना पाकर दिघवारा में हुए भावुक,

– डॉ. एस.कुमार ने कहा, दुनिया में सबकुछ मिल सकता है, लेकिन मां नहीं,

– अंतिम संस्कार में शामिल हुए काफी लोग

रिपोर्ट : वीरेश सिंह/के. के. सिंह सेंगर, अम्बालिका न्यूज ब्यूरो,
छपरा/सिवान :

एकमा के प्रसिद्ध चिकित्सक व सीवान जिले के दारौंदा प्रखंड के रामा छपरा गांव निवासी डॉ. एस. कुमार की माता ज्योति देवी की हृदय गति रुकने से रविवार को रामा छपरा गांव में निधन हो गया। वह लगभग 85 वर्ष की थी। उनके पति स्व. जगन्नाथ सिंह पुलिस विभाग के दरोगा पद से सेवानिवृत्त होने के बाद बीते कुछ माह पहले ही निधन हुआ है। संयोग ऐसा रहा है कि डॉ. एस. कुमार के पिता व माता जी दोनों के निधन का अलग-अलग माह व तिथि भले ही रही हो, लेकिन दिन रविवार का ही रहा है।वह अपने पीछे अपना भरा-पूरा परिवार छोड़ गई हैं।

फाइल फोटो : ज्योति देवी

उधर माता के निधन की खबर मिलते ही गांव सहित एकमा और आसपास के इलाकों में शोक की लहर फैल गई।
इसकी विशेष जानकारी डॉ एस. कुुुमार ने अम्बालिका न्यूज ब्यूरो को मोबाइल फोन से वार्ता में दी।

इस अवसर पर मनोज सिंह, वीरेश सिंह पत्रकार, के. के. सिंह सेंगर, पत्रकार वीरेंद्र कुमार यादव, किशोर सिंह, नीरज कुमार, मिथिलेश सिंंह, प्रो. अजीत कुमार सिंह, डॉ. सत्यदेव प्रसाद यादव, डॉ. अमित कुमार तिवारी, डॉ. आलोक कुमार, वार्ड सदस्य विजेन्द्र सिंह आदि ने अपनी गहरी शोक संवेदना प्रकट की है। उनकी माता के पार्थिव शरीर का दाह संस्कार सिसवन-गयासपुर घाट पर संपन्न हुआ।

डॉ. एस. कुमार अहले सुबह माता की निधन की सूचना पाकर दिघवारा में हुए भावुक, वापस लौटकर अंतिम संस्कार में हुए शामिल :

डॉ. एस.कुमार

सीवान जिले के रामा छपरा निवासी डॉ. एस. कुमार रविवार को सड़क मार्ग से पटना जा रहे थे। दिघवारा के समीप जैसे ही उनका वाहन पहुंचा, कि उनके मोबाइल फोन पर माता जी के रामा छपरा गांव में हृदय गति रुकने से निधन की सूचना मिली। इसके बाद वह भावुक हो गए।

डॉ. एस.कुमार ने कहा, दुनिया में सबकुछ मिल सकता है, लेकिन मां नहीं। उसके बाद ही वह अपने वाहन से वापस घर लौटे। इसके बाद अपनी माता के अंतिम संस्कार में शामिल हुए।
इस दौरान उनकी माता की अंतिम यात्रा में हजारों की संख्या में लोग शामिल हुए। सिसवन-गयासपुर घाट पर शव का दाह संस्कार किया गया। मुखाग्नि डॉ. एस कुमार के बड़े भाई ने दिया।

उधर प्रसिद्ध चिकित्सक डॉ. एस कुमार की माता के निधन पर अम्बालिका न्यूज़ ब्यूरो टीम ओर से भी गहरी शोक संवेदना व्यक्त की गई है। ऊं शांति!!

Advt.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*