महाराजगंज लोक सभा सीट से भाजपा सांसद के विरुद्ध अब तक अपना प्रत्याशी तय नहीं कर सका महागठबंधन,

महाराजगंज लोक सभा सीट से भाजपा सांसद के विरुद्ध अब तक अपना प्रत्याशी तय नहीं कर सका महागठबंधन,

– कांग्रेस से पूर्व मंत्री रवीन्द्रनाथ मिश्रा व पूर्व आईएएस अधिकारी विमल कीर्ति सिंह और राजद से रणधीर सिंह, देव कुमार सिंह व खेसारी लाल के नामों को लेकर मतदाताओं में अटकलें तेज,

– बिहार का चितौड़गढ़ के नाम से जाना जाता है महाराजगंज लोस सीट

आम मतदाताओं की अटकलों व संभावित प्रत्याशियों की दावेदारी पर आधारित तस्वीरों का स्वरूप

रिपोर्ट : अम्बालिका न्यूज चुनाव डेस्क, बिहार

छपरा/महाराजगंज/एकमा (बिहार) : बिहार के चितौड़गढ़ के नाम से जाने जाने वाले महाराजगंज लोक सभा क्षेत्र से भाजपा-जदयू गठबंधन की ओर से मौजूदा भाजपा सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल पर भरोसा जताते हुए प्रत्याशी घोषित कर दिया गया है। जबकि महाराजगंज संसदीय सीट के लिए महागठबंधन में अभी तक सीटों के बंटवारे को लेकर एक राय नहीं हो सकी है। आम मदाताओं के बीच महागठबंधन की ओर से शीघ्र ही अपना प्रत्याशी घोषित नहीं किए जाने को लेकर अटकलों का बाजार गर्म व उहापोह के बीच घोषित प्रत्याशी के नाम को जानने को लेकर काफी उत्सुकता भी है।

भाजपा-जदयू गठबंधन से प्रत्याशी : जनार्दन सिंह सिग्रीवाल

महाराजगंज लोकसभा क्षेत्र के लिए छठे चरण में आगामी 12 मई को मतदान होना है। इस लोस क्षेत्र में सीवान जिले की दो और सारण जिले की चार सहित कुल छह विधान सभा क्षेत्र शामिल हैं। महागठबंधन की ओर से अभी तक यह निर्णय नहीं लिया जा सका है कि इस सीट से राजद अपना प्रत्याशी उतारेगी अथवा यह सीट कांग्रेस, हम अथवा रालोसपा आदि अन्य दलों के हिस्से में यह सीट दी जाएगी।

कांग्रेस से टिकट के प्रबल दावेदार : पूर्व आईएएस अधिकारी व सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता विमल कीर्ति सिंह

लेकिन अभी तक जो तस्वीरें उभर कर सामने नजर आ रही है उसमें कांग्रेस की ओर से पूर्व मंत्री प्रो. रविन्द्रनाथ मिश्रा के अलाव पूर्व आईएएस अधिकारी विमल कीर्ति सिंह कांग्रेस के टिकट से इस सीट से चुनाव लड़ने का प्रबल दावेदारी कर चुके हैं। श्री सिंह खुद को एक स्वच्छ छवि का योग्य, पढ़ा-लिखा व ईमानदार प्रत्याशी जनता के बीच पहुंच कर बता रहे हैं।

कांग्रेस से टिकट के दावेदार : पूर्व मंत्री, प्रो. रविन्द्रनाथ मिश्रा

उधर राजद की ओर से पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह के पुत्र व छपरा के पूर्व विधायक रणधीर कुमार सिंह इस क्षेत्र से अपनी दावेदारी ठोक रखें है। वह अपने पिता व पूर्व सांसद को बिहार सरकार के द्वारा गलत तरीके से केस में फंसाकर जेल भेजने का आरोप लगाते हुए बीते कई महिनों से क्षेत्र की सभी छह विधान सभाओं में सघन जनसंपर्क कर चुके हैं। इसके पहले मोदी व भाजपा की लहर में संपन्न हुए चुनाव में रणधीर सिंह के पिता प्रभुनाथ सिंह भाजपा प्रत्याशी जनार्दन सिंह सिग्रीवाल से चुनाव हार गये थे।

महागठबंधन में राजद से टिकट की दावेदारी कर रहे पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह के पुत्र व छपरा के पूर्व विधायक रणधीर कुमार सिंह

इस बार रणधीर खुद लोक सभा चुनाव में इस सीट से पहली बार अपना भाग्य भाग्य आजमा कर अपने पिता व राजद की खोई हुई प्रतिष्ठा को वापस लाना चाह रहे हैं।

महागठबंधन में राजद से टिकट की दावेदारी ठोक रहे देव कुमार सिंह

इस बीच महागठबंधन में शामिल राजनीतिक दल राजद से ही महाराजगंज लोक सभा क्षेत्र से टिकट चाहने वालों के दौड़ में राजद के वरिष्ठ नेता देव कुमार सिंह भी शामिल हैं। बताते हैं कि देव कुमार सिंह पूर्व में संपन्न हुए चुनावों में पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह व पूर्व सांसद उमाशंकर सिंह के चुनाव कार्यों का संचालन कर चुके हैं। राजनीतिक प्रेक्षकों का मानना है कि श्री सिंह राजद का टिकट पाकर चुनाव लड़ने की लालसा से ही लोजपा छोड़कर बीते वर्ष राजद में शामिल हो गए थे। बीते महीनों में देव कुमार सिंह राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव से झारखंड के रांची स्थित रिम्स अस्पताल में मुलाकात करके अपना टिकट पक्का कराने की जुगत लगा चुके हैं। अभी भी वह पार्टी के हाईकमान से लगातार संपर्क स्थापित किए हुए हैं। उन्हें विश्वास है कि अगर राजद की ओर से यह सीट अपने खाते में लिया जाता है तो श्री सिंह को यह टिकट अवश्य ही मिलेगा।

भोजपुरी सिनेमा के सुपर स्टार व गायक खेसारी लाल यादव

इस बीच बीते दिनों की उठापटक पर नजर डालें तो भोजपुरी सिनेमा के सुपरस्टार के रूप में जाने वाले इस क्षेत्र के जाने माने गायक व सिने स्टार खेसारी लाल यादव की ओर से भी क्षेत्र में अपनी चहल कदमी बढ़ाते हुए खुद अथवा अपनी पत्नी को राजद के टिकट से राजनीति में भाग्य आजमाने का मन बनाया जा चुका है।
इसी को लेकर एकमा थाना क्षेत्र के तिलकार गांव में बीते दीपावली की रात को अज्ञात कारणों से कुछ दलित बस्तियों के झोपड़ीनुमा आशियानों व गृहस्थी के जल कर नष्ट हो जाने के बाद अग्नि पीड़ितों को छठ पूजा के पहले साड़ी, कपड़ा, नकदी और पूजन सामग्री आदि का सहयोग किया गया।
इस बीच बीते महीनों में खेसारी लाल यादव और पूर्व सांसद के भतीजे के बीच वार्तालाप का ऑडियो वायरल होने के बाद उत्पन्न हुई तनाव की स्थितियों के बाद खेसारी लाल यादव भी मुंबई स्थित एक अस्पताल में लालू प्रसाद यादव से मुलाकात कर चुके हैं। हालांकि बीते कुछ माह पूर्व वह चुनाव लड़ने से इंकार भी अपने वायरल ऑडियो-वीडियो में कर चुके हैं।
अब देखना यह है कि इस संसदीय क्षेत्र से महागठबंधन की ओर से किस राजनीतिक दल की झोली में यह सीट दी जाती है। उसके बाद वह राजनीतिक दल किस जाति के अपने किस कैंडिडेट को टिकट देकर उस पर भरोसा जताते हुए चुनावी समर में उतारता है।
बहरहाल, आम मदाताओं के बीच महागठबंधन की ओर से शीघ्र ही अपना प्रत्याशी घोषित नहीं किए जाने को लेकर अटकलों का बाजार गर्म है। हालांकि भाजपा जदयू गठबंधन की ओर से इस सीट से भाजपा के खाते में यह सीट दी गई है। वहीं भाजपा ने अपने मौजूदा सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल पर ही भरोसा जताते हुए अपना भाजपा प्रत्याशी घोषित किया है।

इनपुट व संपादन रिपोर्ट : वीरेंद्र कुमार यादव/प्रो. ए. के. सिंह/वीरेश सिंह/के. के. सिंह सेंगर

नोट : यह रिपोर्ट महाराजगंज लोक सभा क्षेत्र के मतदाताओं के बीच चल रही अटकलों और संभावित महागठबंधन के टिकट के दावेदारी कर रहे नेताओं की चहल-कदमी, जनसंपर्क, वायरल रिपोर्ट व दावे की समीक्षा पर आधारित है। इससे अम्बालिका न्यूज और महागठबंधन के दलों के हाईकमान का सहमत होना जरुरी नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*