महाराजगंज संसदीय क्षेत्र से झारखंड के पूर्व चीफ सेक्रेटरी विमल कृति सिंह को उम्मीदवार बनने हेतु क्षेत्रीय लोगों ने किया आग्रह

महाराजगंज संसदीय क्षेत्र से झारखंड के पूर्व चीफ सेक्रेटरी विमल कृति सिंह को उम्मीदवार बनने हेतु क्षेत्रीय लोगों ने किया आग्रह

– एकमा प्रखंड के कोहड़गढ़ गांव में बुद्धिजीवियों व आम नागरिकों की हुई बैठक के बाद मकर संक्रांति की पूर्व संध्या में आयोजित हुआ दही-चुड़ा समरसता भोज

रिपोर्ट : वीरेश सिंह/प्रो. ए. के. सिंह, अम्बालिका न्यूज ब्यूरो,

महाराजगंज/एकमा (सारण) : सारण जिले के एकमा प्रखंड के कोहड़गढ़ गांव में समाज के बुद्धिजीवी व आम नागरिकों की एक विशेष बैठक नगर विकास विभाग से सेवानिवृत्त मुख्य नगर अभियंता व सामाजिक मुद्दों को लेकर संघर्षरत के. पी. सिंह की अध्यक्षता में सोमवार को आयोजित की गई।

दही-चुड़ा समरसता भोज में शामिल आम नागरिक

इस मौके पर मुख्य अतिथि के रुप में झारखंड सरकार के पूर्व चीफ सेक्रेटरी विमल कृति सिंह मौजूद रहे। यहां मकर संक्रांति पर्व की पूर्व संध्या पर एक समरसता दही-चुड़ा भोज भी आयोजित किया गया।
बैठक के दौरान क्षेत्र के किसानों की सिंचाई की असुविधा, शिक्षा की गिरते स्तर, शिक्षित बेरोजगारों के लिए रोजगार व स्वरोजगार की समस्या के अलावा आगामी लोक सभा चुनाव के दौरान हमारा सांसद प्रत्याशी कैसा होना चाहिए? आदि मुद्दों पर विशेष रुप से चर्चा की गई। बैठक में सर्वसम्मति से आसन्न चुनाव में महाराजगंज लोक सभा चुनाव में क्षेत्र की जनता ने अपना प्रत्याशी अपने मन मुताबिक चुनने का निर्णय लिया।

बैठक को संबोधित करते हुए समाजसेवी के. पी. सिंह

जिसमें झारखंड के पूर्व चीफ सेक्रेटरी विमल कृति सिंह से महाराजगंज संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ने हेतु क्षेत्रीय नागरिकों ने आग्रह किया।

आम नागरिकों व पत्रकारों से वार्ता करते संभावित प्रत्याशी विमल कृति सिंह

बैठक में नगर पार्षद शशि सिंह, विजय आनंद आईटी के निदेशक मिथिलेश सिंह, हरेंद्र पटेल, उपेंद्र सिंह, पूर्व मुखिया सुनरदेव राम, अहमद अली, किशोर सिंह, अनुरुद्ध सिंह, जाकिर हुसैन, राघव पांडेय, तुलसी यादव शामिल रहे।

# जानिए कौन हैं विमल कृति सिंह ?

उल्लेखनीय है कि झारखंड के पूर्व चीफ सेक्रेटरी विमल कृति सिंह सीवान जिले के नरीनपुर गांव निवासी व इनके इनके पिता स्व. शंभु बाबू पटना उच्च न्यायालय के न्यायाधीश तथा इनके बड़े भाई सुप्रीम कोर्ट के सेवानिवृत्त न्यायाधीश रह चुके हैं। इस परिवार से इनके चाचा शहीद स्व. उमाकांत सिंह पटना सचिवालय पर ब्रिटिश शासन काल में तिरंगा लहराने के दौरान शहीद हुए थे। जिनकी प्रतीमा आज भी पटना की सप्तमूर्ति में शामिल है।

 

Advt.

(Edited by : K. K. Singh Sengar)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*