जिला जज, डीएम व एसपी ने जिला कारागार का किया औचक निरीक्षण,

जिला जज, डीएम व एसपी ने जिला कारागार का किया औचक निरीक्षण,

– कैदियों को हर हाल में मानक अनुरूप दी जाये सुविधांए : जिला जज

रिपोर्ट : प्रदीप पांडेय/कमल सिंह सेंगर,

गोंडा (यूपी) : जनपद न्यायाधीश राघवेन्द्र, डीएम कैप्टेन प्रभान्शु श्रीवास्तव, एसपी आरपी सिंह व प्रभारी सीजेएम हरीराम द्वारा गुरुवार को जिला जेल का औचक निरीक्षण किया गया। अधिकारियों द्वारा महिला कैदी बैरक, पुरूष बैरक, भोजनालय, विद्यालय, अस्पताल, लाइब्रेरी, भण्डार गृह आदि का गहन निरीक्षण किया गया। इससे पहले अधिकारियों ने कैदियों से मिलकर उनकी समस्याएं सुनीं तथा उनके निराकरण के लिए सम्बन्धित को निर्देश दिए।


कुछ कैदियों द्वारा आंख में परेशानी होने की बात जिला जज से बताई गई जिस पर उन्होने निर्देश दिए कि जेल में अतिशीघ्र नेत्र परीक्षण शिविर लगवाएं तथा कैदियों को आवश्यकतानुसार चश्मा व दवाइयां दिलाएं। कैदियों द्वारा लाॅकअप में गन्दगी होने की शिकायत की गई जिस पर डीएम ने जेल अधीक्षक को निर्देश दिए कि बैरकों की साफ-सफाई नियमित रूप से कराएं। भोजन की गुणवत्ता का निरीक्षण करने के दौरान दाल की गुणवत्ता संतोषजनक नहीं मिली। डीएम ने जेल अधीक्षक को स्पष्ट निर्देश दिए कि कैदियों को मानक अनुरूप ही भोजन उपलब्ध कराया जाय। डीएम ने आंटा ठीक से न गूंथने पर असंतोष व्यक्त किया और ठीक गूंथने के निर्देश दिए। भोजनालय में रोटी बनाने की मशीन खराब पाई गई जिस पर जिला जज ने जेल अधीक्षक को मशीन तत्काल ठीक कराने के निर्देश दिए। जिला जज ने आदेश दिए कि जेल अधीक्षक रोजाना पांच सदस्यों को भोजन की गुणवत्ता जांचने के लिए नामित कर डेली की गुणवत्ता की रिपोर्ट उन्हें व डीएम के पास भोजन चखकर भेजेंगे। डीएम ने यह भी निर्देश दिए कि बैरकों में लगातार रंगाई-पुताई आदि का कार्य कराते रहें। जेल अस्पताल में भर्ती कैदियों का स्वास्थ्य परीक्षण कराने तथा उन्हें मर्ज के अनुसार दवाइयां उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए। लाइब्रेरी के निरीक्षण में जिला जज ने निर्देश दिए कि कैदियों के ज्ञानवर्धन के लिए वाद-विवाद प्रतियोगिता व लेखन प्रतियोगिता का आयोजन कराएं तथा जरूरत हो तो और पुस्तकों की खरीद कराएं। जिला जज व डीएम ने ऐसे कैदियों को तत्काल सरकारी वकील मुहैया कराने के निर्देश दिए हैं जिन्होने आर्थिक परेशानी अथवा अन्य किन्हीं कारणों से वकील नहीं करा पाए हैं और जमानत अथवा पैरवी के परेशान हैं।

 


इस दौरान जेल अधीक्षक शशिकान्त सिंह, सीओ सिटी महावीर सिंह, कोतवाल नगर अशोक सिंह, कोतवाल देहात हर्षवर्धन सिंह, पीआरओ मुकेश सिंह तथा न्याय विभाग के कर्मचारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*