विश्वविद्यालय की टीम ने संबद्धता के लिए किया पारस कौशल डिग्री कॉलेज का निरीक्षण

विश्वविद्यालय की टीम ने संबद्धता के लिए किया पारस कौशल डिग्री कॉलेज का निरीक्षण

– वर्षों बाद दिखी चहल-पहल

रिपोर्ट : वीरेश सिंह, ब्यूरो, अम्बालिका न्यूज,
छपरा : लगता है जय प्रकाश विश्वविद्याल के एन ओ सी प्राप्त कॉलेजो का दिन बहुरने वाला है।मालूम को की 2011—12 में जय प्रकाश विश्वविद्यालय के तहत 53 डिग्री महाविद्यालत को एन ओ सी दिया गया। जिसके तहत ये महाविद्यालय स्नातक प्रतिष्ठा स्तर की पढ़ाई की शुरुआत किए।लेकिन जब 2014 ई में डॉ डी के गुप्ता जय प्रकाश विश्वविद्यालय के कुलपति के पद पर आसीन हुए और इन कॉलजो में 2014 के सत्र से नामांकन पर रोक लगा दिए । सभी महाविद्यालय बंद हो गए। उसके बाद शुरू हुई न्यायालय और कागजी कार्यवाई।

इसी दौर में विश्वविद्यालय का कॉपी घोटाला भी उजागर हुआ।जिसमें बहुत से विश्वविद्यालत के पदाधिकारी पर केश हुआ।कुलपति प्रो हरिकेश सिंह के आने पर इन महाविद्यालयों ने कागजी घोड़े दौराने शुरू किए ।तथा राजभवन के पत्र के आलोक में कुलपति प्रो हरिकेश सिंह ने इन महाविद्यालयों को अपने कागजात जमा करने के लिए पत्र निकाला जिसमे 40 महाविद्यालयों ने अपने दावे विश्ववविद्यालय में प्रस्तुत किए।तत्पश्चात कुलपति ने 5 सदस्यीय टीम का गठन कर इन महाविद्यालयों को निरीक्षण करने का आदेश पारित करते हुए 15 दिनों में अपना प्रतिवेदन देने को कहा।इसी कड़ी में 4 दिसम्बर को पारस कौशल डिग्री महाविद्यालय का निरीक्षण हुआ।


निरीक्षण दल में प्रो सरोज कुमार वर्मा,डॉ केदार नाथ, डॉ ए के झा, डॉ आर के श्रीवास्तव, डॉ रविन्द्र सिंह आदि ने पारस कौशल महाविद्यालय पर कॉलेज के ट्रस्ट, जमीन,लेबोरेट्री,लाइब्रेरी, कर्मचारियों की नियुक्ति सम्बंन्धित संबधी विज्ञापन, कर्मचारियों की नियुक्ति के लिए साक्षात्कार संबंधित कागजात,उनकी वेतन संबंधित कागजात, लेबोरेट्री के सामान खरीद का रसीद,किताब खरीद का रसीद एवं अन्य आवश्यक कागजातों की जाँच की जिसे प्राचार्य प्रियेश रंजन सिंह ने निरीक्षण टीम के सामने प्रस्तुत कर निरीक्षक दल को दिया।इस अवसर पर कॉलेज के ज्यादातर शिक्षक एवं शिक्षकेत्तर कर्मी अपनी आँखों मे उम्मीद की झलक के साथ मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*